• Register
search
Log In
First time here? Checkout the FAQ!
x
2 votes
546 views

               सम्मिलित राज्य/ प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 

की मुख्य (लिखित) परीक्षा हेतु 

निर्देश तथा पाठयक्रम  

( IN ENGLISH) 

   COMPULSORY SUBJECTS 150 MAXIMUM MARKS
1. सामान्य हिन्दी   150
2. निबंध    150
3. सामान्य अध्ययन-।   200
4. सामान्य अध्ययन-II   200
5. सामान्य अध्ययन-III   200
6. सामान्य अध्ययन-IV   200
      6 papers 1100

1.आयोग प्रवेश पत्र के बिना किसी भी अभ्यर्थी को मुख्य (लिखित) परीक्षा में सम्मिलित होने की अनुमति नहीं देंगे। किसी भी अभ्यर्थी के परीक्षा में प्रवेश हेतु अर्हता/ पात्रता के सम्बन्ध में आयोग का निर्णय अंतिम होगा।

2. अभ्यर्थियों को सचेत किया जाता है कि उत्तर पुस्तिका में केवल निर्धारित स्थान पर ही अपना अनुक्रमांक लिखें अन्यथा दण्डस्वरूप उनके अंकों में कटौती की जायेगी। अभ्यर्थी उत्तर पुस्तिका में कहीं भी अपना नाम न लिखें अन्यथा उन्हें परीक्षा के लिये अनर्ह घोषित किया जा सकता है।

 3. यदि अभ्यर्थी की हस्तलिपि अस्पष्ट/अपठनीय है तो उसके प्राप्तांकों के कुल योग में से कटौती की जा सकती है। 

4. अभ्यर्थी प्रश्न-पत्रों के उत्तर अंग्रेजी रोमन लिपि में अथवा हिन्दी देवनागरी लिपि में अथवा उर्दू फारसी लिपि में लिख सकते है परन्तु उन्हें भाषा के प्रश्न-पत्र का उत्तर जब तक की प्रश्न में अन्यथा निर्दिष्ट न हो अनिवार्य रूप से उसी भाषा में लिखना होगा। 

5. प्रश्न-पत्र केवल अंग्रेजी लिपि में व हिन्दी देवनागरी लिपि में होंगे। 

6. सामान्य अध्ययन एवं वैकल्पिक विषय के प्रश्न-पत्रों का पाठ्यक्रम अन्यथा उल्लिखित विवरण के अतिरिक्त, किसी विश्वविद्यालय से स्नातक डिग्रीधारी अभ्यर्थी से अपेक्षित स्तर का होगा। 

सामान्य हिन्दी= 150  अंक

    

1 .दिए गए गद्य खंड का अवबोध एवं प्रश्नोत्तर 

2. संक्षेपण            

3. पत्र  लेखन   

  1. सरकारी एवं  अर्ध  सरकारी  पत्र  लेखन  ,
  2. तार  लेखन,  
  3. कार्यालय आदेश, 
  4. अधिसूचना
  5.  परिपत्र 

४. शब्द  ज्ञान एवं प्रयोग 

  1. उपसर्ग  एवं प्रत्यय प्रयोग 
  2. विलोम शब्द 
  3. वाक्यांश के लिए एक शब्द 
  4. वर्तनी एवं वाक़्य शुद्धि 
  5. लोकोक्ति एवं मुहावरे 

निबंध= 150  अंक 

  • निबंध के प्रश्न पात्र में ३ खंड होंगे | 
  • प्रत्येक खंड से एक एक विषय पर ७०० शब्दों में निबंध लिखना होगा | 
  • प्रत्येक खंड  ५० -५० अंकों का होगा 

खंड क खंड  खंड ग
1-साहित्य संस्कृति १ - विज्ञानं पर्यावरण एवं प्रौद्योगिकी १- राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय घटनाक्रम
२- सामजिक क्षेत्र २- आर्थिक क्षेत्र  २- प्राकृतिक आपदाएं 
३-राजनीतिक क्षेत्र ३- कृषि उद्योग एवं व्यापार ३-राष्ट्रीय विकास योजनाए 

सामान्य अध्ययन-। = 200  अंक 

1. भारतीय संस्कृति के इतिहास में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला प्रारूप, साहित्य एवं वास्तुकला के महत्वपूर्ण पहलू शामिल होंगे।

2. आधुनिक भारतीय इतिहास (1757 ई0 से 1947 ई0 तक)- महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यक्तित्व एवं समस्याएं इत्यादि।

3. स्वतंत्रता संग्राम- इसके विभिन्न चरण और देश के विभिन्न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले महत्वपूर्ण व्यक्ति/उनका योगदान।

4. स्वतंत्रता के पश्चात् देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन (1965 ई0 तक)।

5. विश्व के इतिहास में 18 वीं सदी से बीसवीं सदी के मध्य तक की घटनाएं जैसे फ्रांसीसी क्रान्ति 1789, औद्योगिक क्रांति, विश्व यु़द्ध, राष्ट्रीय सीमाओं का पुनः सीमांकन, उपनिवेशवाद, उपनिवेशवाद की समाप्ति, राजनीतिक    दर्शन शास्त्र जैसे साम्यवाद,     पूॅजीवाद, समाजवाद, नाजीवाद, फासीवाद इत्यादि के रूप और समाज पर उनके प्रभाव इत्यादि शामिल होंगें।

6. भारतीय समाज और संस्कृति की मुख्य विशेषताएं।

7. महिलाओं की समाज और महिला-संगठनों में भूमिका, जनसंख्या तथा सम्बद्ध समस्याएं, गरीबी और विकासात्मक विषय, शहरीकरण, उनकी समस्याएं और उनके रक्षोपाय।

8. उदारीकरण, निजीकरण और वैश्वीकरण का अभिप्राय और उनका भारतीय समाज के अर्थ व्यवस्था, राज्य व्यवस्था और समाज संरचना पर प्रभाव।

9. सामाजिक सशक्तीकरण, साम्प्रदायिकता, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता।

10. विश्व के प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों का वितरण- जल,मिट्टियाॅ एवं वन, दक्षिण एवं दक्षिण पूर्व एशिया में (भारत के विशेष संदर्भ में)।

11. भौतिक भूगोल की प्रमुख विशिष्टताएं- भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखी क्रियाएॅं, चक्रवात, समुद्री जल धाराएं, पवन एवं हिम सरिताएं।

12. भारत के सामुद्रिक संसाधन एवं उनकी संभाव्यता।

13. मानव प्रवास- विश्व की शरणार्थी समस्या- भारत- उपमहाद्वीप के संदर्भ में।

14. सीमान्त तथा सीमांए- भारत उप- महाद्वीप के संदर्भ में।

15. जनसंख्या एवं अधिवास- प्रकार एवं प्रतिरूप, नगरीकरण,स्मार्ट नगर एवं स्मार्ट ग्राम।

16. उत्तर प्रदेश का विशेष ज्ञान-इतिहास, संस्कृति, कला, साहित्य, वास्तुकला, त्योहार, लोक-नृत्य साहित्य, प्रादेशिक भाषाएं, धरोहरें, सामाजिक रीति-रिवाज एवं पर्यटन।

17. उ0प्र0 का विशेष ज्ञान- भूगोल-मानव एवं प्राकृतिक संसाधन, जलवायु, मिट्टियाॅं, वन वन्य-जीव, खदान और खनिज, सिंचाई के स्रोत।

सामान्य अध्ययन-।I = 200  अंक

1. भारतीय संविधान- ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएं, संशोधन, महत्वपूर्ण प्रावधान तथा आधारभूत संरचना। संविधान के आधारभूत प्रावधानों के विकास में उच्चतम न्यायालय की भूमिका।

2. संघ एवं राज्यों के कार्य तथा उत्तरदायित्व, संघीय ढांचे से संबंधित विषय एवं चुनौतियां, स्थानीय स्तर पर शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसकी चुनौतियां।

3. केन्द्र-राज्य वित्तीय सम्बन्धों में वित्त आयोग की भूमिका।

4. शक्तियों का पृथक्करण, विवाद निवारण तंत्र तथा संस्थाएं। वैकल्पिक विवाद निवारण तंत्रो का उदय एवं उनका प्रयोग।

5. भारतीय संवैधानिक योजना की अन्य प्रमुख लोकतांत्रिक देशों के साथ तुलना।

6. संसद और राज्य विधायिका- संरचना, कार्य, कार्य-संचालन, शक्तियाॅ एवं विशेषाधिकार तथा संबंधित विषय।

7. कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कार्य- सरकार के मंत्रालय एवं विभाग, प्रभावक समूह और औपचारिक/अनौपचारिक संघ तथा शासन प्रणाली में उनकी भूमिका। जनहित वाद (पी0आई0एल0)।

8. जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं।

9. विभिन्न संवैधानिक पदों पर नियुक्ति, शक्तियाॅ, कार्य तथा उनके उत्तरदायित्व।

10. सांविधिक, विनियामक और विभिन्न अर्ध-न्यायिक निकाय, नीति आयोग समेत- उनकी विशेषताएं एवं कार्यभाग।

11. सरकारी नीतियों और विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए हस्तक्षेप, उनके अभिकल्पन तथा कार्यान्वयन के कारण उत्पन्न विषय एवं सूचना संचार प्रौद्योगिकी (आई0सी0टी0)।

12. विकास प्रक्रियाएं-गैर सरकारी सगंठनों की भूमिका, स्वयं सहायता समूह, विभिन्न समूह एवं संघ, अभिदाता, सहायतार्थ संस्थाएं, संस्थागत एवं अन्य अंशधारक।

13. केन्द्र एवं राज्यों द्वारा जनसंख्या के अति संवेदनशील वर्गो के लिए कल्याणकारी योजनाएं और इन योजनाओं का कार्य- निष्पादन, इन अति संवेदनशील वर्गो की रक्षा एवं बेहतरी के लिए गठित तंत्र, विधि,संस्थान एवं निकाय।

14. स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास एवं प्रबंधन से संबधित विषय।

15. गरीबी और भूख से संबंधित विषय एवं राजनैतिक व्यवस्था के लिए इनका निहितार्थ।

16. शासन व्यवस्था, पारदर्शिता और जवाबदेही के महत्वपूर्ण पक्ष, ई-गवर्नेस-अनुप्रयोग, माॅडल, सफलताएं, सीमाएं और संभावनाएं, नागरिक चार्टर, पारदर्शिता एवं जवाबदेही और संस्थागत व अन्य उपाय।

17. लोकतंत्र में उभरती हुई प्रवृत्तियों के संदर्भ में सिविल सेवाओं की भूमिका।

18. भारत एवं अपने पड़ोसी देशों से उसके संबंध।

19. द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और भारत से संबंधित और/अथवा भारत के हितों को प्रभावित करने वाले करार।

20. भारत के हितों एवं अप्रवासी भारतीयों पर विकसित तथा विकासशील देशों की नीतियों तथा राजनीति का प्रभाव।

21. महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, संस्थाएं और मंच- उनकी संरचना, अधिदेश तथा उनका कार्य भाग।

22. उ0प्र0 के राजनैतिक, प्रशासनिक, राजस्व एवं न्यायिक व्यवस्थाओं की विशिष्ट जानकारी।

23. क्षेत्रीय, प्रान्तीय, राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय महत्व के समसामयिक घटनाक्रम।

सामान्य अध्ययन-III = 200  अंक

1. भारत में आर्थिक नियोजन, उद्देश्य एवं उपलब्धियाॅ, नीति (एन0आई0टी0आई0) आयोग की भूमिका,

2. गरीबी के मुद्दे, बेरोजगारी, सामाजिक न्याय एवं समावेशी संवृद्धि।

3. सरकार के बजट के अवयव तथा वित्तीय प्रणाली।

4. प्रमुख फसलें, विभिन्न प्रकार की सिंचाई विधि एवं सिंचाई प्रणाली, कृषि उत्पाद का भंडारण, ढुलाई एवं विपणन, किसानों की सहायता हेतु ई-तकनीकी।

5. अप्रत्यक्ष एवं प्रत्यक्ष कृषि सहायकी तथा न्यूनतम समर्थन मूल्य से जुड़े मुद्दे, सार्वजनिक वितरण प्रणाली-उद्देश्य, क्रियान्वयन, परिसीमाएं, सुदृढ़ीकरण खाद्य सुरक्षा एवं बफर भण्डार, कृषि सम्बन्धित तकनीकी अभियान              टेक्नालाजी मिशन।

6. भारत में खाद्य प्रसंस्करण व संबंधित उद्योग-कार्यक्षेत्र एवं महत्व, स्थान निर्धारण, उध्र्व व अधोप्रवाह आवश्यकताएं, आपूर्ति श्रृखंला प्रबंधन।

7. भारत में स्वतंत्रता के पश्चात् भूमि सुधार।

8. भारत में वैश्वीकरण तथा उदारीकरण के प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन तथा इनके औद्योगिक संवृद्धि पर प्रभाव।

9. आधारभूत संरचनाः ऊर्जा, बंदरगाह, सड़क, विमानपत्तन तथा रेलवे आदि।

10. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी-विकास एवं अनुप्रयोग (दैनिक जीवन एवं राष्ट्रीय सुरक्षा में, भारत की विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी नीति)।

11. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां, प्रौद्योगिकी का देशजीकरण। नवीन प्रौद्योगिकियों का विकास, प्रौद्योगिकी का हस्तान्तरण, द्विअनुप्रयोगी एवं क्रान्तिक अनुप्रयोग प्रौद्योगिकियाॅं।

12. सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, कंम्प्यूटर, ऊर्जा स्त्रोतों, नैनो प्रौद्योगिकी, सूक्ष्म जीव विज्ञान, जैव प्रौद्योगिकी क्षेत्र में जागरूकता। बौद्धिक सम्पदा अधिकारों एवं डिजिटल अधिकारों से सम्बन्धित मुद्दे।

13. पर्यावरणीय सुरक्षा एवं पारिस्थितिकी तंत्र, वन्य जीवन संरक्षण, जैव विविधता, पर्यावरणीय प्रदूषण एवं क्षरण, पर्यावरणीय संघात आंकलन।

14. आपदाः गैर-पारम्परिक सुरक्षा एवं संरक्षा की चुनौती के रूप में, आपदा उपशमन एवं प्रबन्धन।

15. अन्तर्राष्ट्रीय सुरक्षा की चुनौतियॅाःं आणुविक प्रसार के मुद्दे, अतिवाद के कारण तथा प्रसार, संचार तन्त्र, मीडिया की भूमिका तथा सामाजिक तन्त्रीयता, साइबर सुरक्षा के आधार, मनी लाउन्डरिंग तथा मानव तस्करी।

16. भारत की आन्तरिक सुरक्षा की चुनौतियांः आतंकवाद, भ्रष्टाचार, प्रतिविद्रोह तथा संगठित अपराध।

17. सुरक्षा बलों की भूमिका, प्रकार तथा शासनाधिकार, भारत का उच्च रक्षा संगठन।

18. उत्तर प्रदेश के आर्थिक परिदृष्य का विशिष्ट ज्ञानः- उत्तर प्रदेश की अर्थ व्यवस्था का सामान्य विवरण, राज्य के बजट। कृषि, उद्योग, आधारभूत संरचना एवं भौतिक संसाधनों का महत्व। मानव संसाधन एवं कौशल विकास, सरकार के कार्यक्रम एवं कल्याणकारी योजनाएं।

19. कृषि, बागवानी, वानिकी एवं पशुपालन के मुद्दे।

20. उत्तर प्रदेश के विशेष संदर्भ में कानून एवं व्यवस्था और नागरिक सुरक्षा।

सामान्य अध्ययन-IV = 200  अंक

 नीतिशास्त्र तथा मानवीय अन्तः सम्बन्ध

  1. मानवीय क्रियाकलापों में नीतिशास्त्र का सारतत्व, इसके निर्धारक और परिणाम: 
  2. नीतिशास्त्र के आयाम, 
  3. निजी और सार्वजनिक संबंधों में नीतिशास्त्र।
  4.  मानवीय मूल्य-महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन तथा उनके उपदेशों से शिक्षा,
  5.  मूल्य विकसित करने में परिवार, समाज और शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका।

 अभिवृत्तिः अंर्तवस्तु (कंटेन्ट), 

  1. संरचना, कार्य, विचार तथा आचरण के परिप्रेक्ष्य में इसका प्रभाव एवं संबंध, 
  2. नैतिक और राजनीतिक अभिरूचि, सामाजिक प्रभाव और सहमति पैदा करना।
  3.  सिविल सेवा के लिए अभिरूचि तथा बुनियादी मूल्य, 
  4. सत्यनिष्ठा, निष्पक्षता तथा गैर- तरफदारी, वस्तुनिष्ठता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण भाव, कमजोर वर्गों के प्रति सहानुभूति, सहिष्णुता तथा करूणा।

 संवेगात्मक बुद्धिः 

  1. अवधारणाएं तथा आयाम, प्रशासन और शासन व्यवस्था में उनकी उपयोगिता और प्रयोग। 
  2. भारत तथा विश्व के नैतिक विचारकों तथा दार्शनिकों का योगदान।

 लोक प्रशासनों में लोक/सिविल सेवा मूल्य तथा नीतिशास्त्र: 

  1. स्थिति तथा समस्याएं, 
  2. सरकारी तथा निजी संस्थानों में नैतिक सरोकार तथा दुविधाएं,
  3.  नैतिक मार्गदर्शन के स्त्रोतों के रूप में विधि, नियम, नियमन तथा
  4. अंतर्रात्मा, जवाबदेही तथा नैतिक शासन व्यवस्था में नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण, अंतर्राष्ट्रीय संबंधों तथा
  5. निधि व्यवस्था (फंडिग) में नैतिक मुद्दे, कारपोरेट शासन व्यवस्था।

शासन व्यवस्था में ईमानदारीः 

  1. लोक सेवा की अवधारणा, शासन व्यवस्था और ईमानदारी का दार्शनिक
  2. आधार, सरकार में सूचना का आदान-प्रदान और पारदर्शिता, सूचना का अधिकार, नीतिपरक आचार संहिता,
  3. आचरण संहिता, नागरिक घोषणा पत्र, कार्य संस्कृति, सेवा प्रदान करने की गुणवत्ता, लोक-निधि का
  4. उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियां।

 उपर्युक्त विषयों पर मामला संबंधी अध्ययन (केस स्टडी)।

asked in Upper PCS 7.6k points 7 28 55
edited by
Propecia Diabetes Medication  <a href=http://bakgol.com>vente viagra</a> Acheter Cialis Brand
Metabolism Of Cephalexin Cialis 10 Mg Cost  <a href=http://via100mg.com>viagra</a> Angela Women'S Ginseng
Propecia De 1 Miligramo Happy Male Viagra  <a href=http://sildenaf75.com>viagra</a> Cialis Compresse 10 Mg
Amoxil 1g Propecia Dependence  <a href=http://cheapcheapvia.com>viagra online</a> Cheap Doxycycline 180 100 Mg Without Rx
Buy Branded Viagra Levitra Adiccion Nolvadex Effets Secondaires  <a href=http://cialisong.com>cialis from canada</a> Viagra GСЂВ nСЂВ rique En Ligne Cialis Super Active Plus Reviews Buy Accutane 40 Mg Online

Your answer

keep your answer short
Your name to display (optional):
Privacy: Your email address will only be used for sending these notifications.

Related questions

0 votes
0 answers 147 views
147 views
UP PCS Mains examination Compulsory papers syllabus हिन्दी में COMPULSORY SUBJECTS 150 MAXIMUM MARKS 1. General Hindi 150 2. Essay 150 3. General Studies (First Paper) 200 4. General Studies (Second Paper) 200 5. General Studies (Third Paper) 200 6. ... 's charter, work culture, quality of service delivery, utilization of public funds, challenges of corruption. Case studies on above issues.
asked Nov 1, 2018 in Upper PCS thirstyscholar 7.6k points 7 28 55
0 votes
0 answers 51 views
51 views
Syllabus for Preliminary Examination Pertaining to the Combined State / Upper Subordinate Services Examination and Assistant Conservator of Forest / Range Forest Officer Services Examination The Preliminary examination will consist of two compulsory papers of which answer sheet be on OMR ... ) वर्तनी (12) अर्थबोध (13) हिन्दी भाषा के प्रयोग में होने वाली अशुद्धियाँ (14) उ0प्र0 की मुख्य बोलियाँ
asked Nov 20, 2018 in Information thirstyscholar 7.6k points 7 28 55
1 vote
0 answers 9 views
...
$("select").addclass("no-autoinit")